प्रोफेसर मोईन खान ने जनपद खीरी का नाम किया रोशन 

एन.के.मिश्रा
 लखीमपुर खीरी।मोहम्मदी क्षेत्र के ग्राम चठिया निवासी शोध छात्र डॉ मोईन खान ने ‘ग्रामीण आजीविका संवर्धन एवं विविधीकरण: लखीमपुर खीरी ज़िले में सामाजिक एवं आर्थिक विकास की रणनीति’ विषय पर पीएचडी थीसिस लिखकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के भूगोल विभाग से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है। डॉ मोईन खान ने प्रोफेसर अतीक़ अहमद के निर्देशन में काम करते हुए, लखीमपुर खीरी ज़िले के ग्रामीण रोजगार की समस्यायों और उनके विभिन्न आयामों को अति सूक्ष्मता से समझाने का प्रयास किया है। बाढ़, भूमिहीनता, जोत की लघुता, कृषि पर अत्यधिक निर्भरता, असाक्षरता और ग़रीबी लखीमपुर के लोगों के आजीविका की प्रमुख समस्याएं हैं। इन समस्यायों से निपटने के लिए, शोधार्थी ने कुछ मॉडल्स और रणनीतियां सुझाई हैं। कृषिक और गैर-कृषिक क्षेत्रों में आजीविका विविधीकरण एवं उन्नयन उनमें से एक हैं। बनारस हिन्दू विश्विद्यालय के प्रोफ़ेसर वी के कुमरा ने शोधार्थी की थीसिस का परीक्षण किया। डॉ मोईन खान फिलहाल नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के भूगोल विभाग मे असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर कार्यरत हैं|

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.