सीएचसी मोहम्मदी में आयोजित हुआ वृहद मानसिक स्वास्थ्य शिविर, देखे गए 86 मरीज

एन.के.मिश्रा

लखीमपुर खीरी। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत एक वृहद जागरूकता शिविर का आयोजन सीएचसी मोहम्मदी में किया गया। जिसका शुभारंभ सीएचसी अधीक्षक डॉ. मयंक मिश्रा द्वारा किया गया। शिविर में जिला अस्पताल से मनोचिकित्सक डॉ. अखिलेश शुक्ला अपनी टीम के साथ पहुंचे। मानसिक टीम द्वारा 86 मरीजों को देखा गया। वहीं शिविर में कुल 403 मरीज देखें गए।
सीएचसी अधीक्षक डॉ. मयंक मिश्रा ने बताया कि एनसीडी के अंतर्गत संचालित राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत मानसिक रोगों के प्रति लोगों को जागरूक करने और उनके उपचार हेतु एक वृहद शिविर का आयोजन किया गया‌। जिसमें लोगों को मानसिक बीमारियों के प्रति जागरूक किया गया। वहीं पर शिविर में पहुंचे मरीजों को निशुल्क दवाएं भी वितरित की गई। इस दौरान मनोचिकित्सक डॉ. अखिलेश शुक्ला ने कहा कि मानसिक रोगियों की पहचान लोग आसानी से नहीं कर पाते और यही कारण है कि लोग ओझा हकीम और भूत प्रेत के चक्कर में पड़कर मानसिक रोगियों की बीमारी को और बढ़ा देते हैं। जिसके बाद कई बार उनका इलाज नहीं संभव हो पाता, परंतु इन बीमारियों को अगर शुरुआती लक्षणों के साथ ही पहचान कर उपचार शुरू करा जाए तो फिर ऐसे मरीजों के सही होने की संभावना बहुत अधिक होती है। वहीं नैदानिक मनोवैज्ञानिक स्तुति कक्कड़ ने बताया कि जिन मानसिक रोगियों को विकलांगता प्रमाण पत्र लेने के लिए मानसिक बुद्धिमत्ता की जांच कराने लखनऊ के मेडिकल कॉलेज जाना पड़ता था। अब उन्हें भी लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज जाने की मुश्किल से भी छुटकारा मिल सकेगा। अब मानसिक समस्याओं से ग्रसित लोगों को समस्त प्रकार की जांचें, परामर्श आसानी से जिले में ही उपलब्ध हो रहा है। इस दौरान इस शिविर में मानसिक रोगियों के साथ ही करीब 403 अन्य मरीजों को भी उपचारित किया गया है। शिविर में जिला स्तरीय टीम में मनोचिकित्सक डॉ. अखिलेश शुक्ला के साथ नैदानिक मनोवैज्ञानिक स्तुति कक्कड़, स्टाफ नर्स विवेक मित्तल शामिल हुए। वहीं सीएचसी से डॉ. मोहित वीर सिंह, डॉ. धर्मेंद्र वर्मा, डॉ. अंजना सिंह, डॉ. सोनी, रुबीना, देवेंद्र पांडे, प्रेम वर्मा, निशांत शुक्ला व काउंसलर राजिद खान ने शिविर में अपना पूर्ण योगदान दिया।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.